मास्टर अमित शाह ने पढ़ाया पाठशाला चुनाव जीतने का अध्याय?

5 एवं 6 जुलाई को बीजेपी के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का छत्तीसगढ़ दौरा, अपने 22 जून कि दुर्ग की सभा में कम भीड़ देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी की 7 जुलाई को होने वाली जनसभा एवं कार्यक्रम के लिए तैयारी पर बल दिये। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बंद कमरे में संभागीय प्रभारी एवं कोर ग्रुप की बैठक हुई। अमित शाह के बैठक में केवल छत्तीसगढ़ के शीर्ष नेता जी शामिल हुए। अमित शाह ने कहा मुझे केवल 2023 दिखाई दे रहा है और किसी को दूसरा चीज दिखा रहा है यहां बैठक में बैठने का कोई मतलब नहीं है। किसी को सिफारिश से टिकट नहीं मिलने वाला, क्षेत्र में खुद पार्टी के लिए काम करें और जीत दिलाएं और गुटबाजी बिल्कुल ना हो एकमत होकर के सामूहिक नेतृत्व में काम करें। अमित शाह ने मीटिंग में कहा, जो क्षेत्रीय पार्टी अलग अलग पार्टी में जो वोट बढ़ती है वह अधिक से अधिक बीजेपी की ओर लाने की कोशिश करें, छत्तीसगढ़ के चुनाव में 2018 में लगभग जनता कांग्रेस के खाते में 12 परसेंट वोट परसेंट गया था, उससे पहले 2008 एवं 2004 के चुनाव में 5 से 7 परसेंट जाता था जो बढ़कर 12%हो गया। टिकट वितरण में 2018 की तरह भूल नहीं करना है, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पूरे होमवर्क करके आए थे ऐसे सीटें को चिन्हित किया जो काफी बहुत बड़े अंतर से हार हुई है, वहां काफी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि यहां 2018 चुनाव में आप के कार्यकर्ता एवं जमीनी स्तर के नेता ने भी BJPवोट क्यों नहीं किया था जमीनी स्तर पर काम करें,। कार्यकर्ताओं को जोड़ करके रखें, सरकार तभी रिपीट करती है विधायकों के इमेज पर निर्भर करता है, सिफारिश से टिकट नहीं मिलने वाला जो 2018 में जो भूल हुआ उसे दोहराना नहीं है।

कांग्रेस के बनाए पिच में नहीं खेलना है नहीं तो हिट विकेट हो जाओगे अमित शाह?

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सह प्रभारी एवं छत्तीसगढ़ प्रभारी से पहले से ही चर्चा करके छत्तीसगढ़ आए थे जो भी जमीनी स्तर की जानकारी ले लिए थे, अमित शाह ने सभी नेताओं को कहा कि कांग्रेस फलाना को टिकट देगी यह सीट आसानी से निकल जाएगी, कांग्रेस के बनाए पिच पर नहीं खेलना है , कांग्रेस यहां उदयपुर शिविर में हुए पार्टी के संशोधन कानून, एवं राष्ट्रीय अधिवेशन के हिसाब से चुनाव लड़ेगी, नए युवा पीढ़ी के कैंडिडेट को भी दे सकती है,?हमेशा प्लेन बी की तरह काम करना है, फलाना कैंडिडेट होगा तो ऐसे चुनाव लड़ना है ऐसे मुद्दे पर चुनाव लड़ना है। अमित शाह ने नेताओं को जीत का गुरु मंत्र दिए।

पीच भी तैयार है और मैदान भी तैयार है, चुनाव आयोग अपनी तैयारी भी शुरू कर चुकी है, मतदाताओं के काट छांट की प्रक्रिया भी चल रही है, लगभग नवरात्रि के आसपास आचार संहिता भी लग जाएगी, चुनाव एक चरण में होंगे यार कई चरण में चुनाव आयोग इलेक्शन कमिशन जाने , लेकिन चुनाव जीतने के लिए ग्लोबल न्यूज़ & जनता जनार्दन चरणों में आना पड़ेगा,। ग्लोबल न्यूज़ की ओर से श्रावण पुरुषोत्तम मास की शुभकामनाएं।

guruglobal

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *