जनपद के सुस्त कर्मचारियों के लिए ग्लूकोस विटामिन की दवाई खिलाना पड़ेगा?

निरंकुश प्रशासनिकता से नाराज जनपद सदस्यों ने कलेक्टर से की शिकायत”छुरा। जनपद पंचायत छुरा के सभी जनपद सदस्यों ने जनपद छुरा में अप्रशासनिक सुस्त रवैया तथा समान्य सभा में विभागीय आला अफसरों की अनुपस्थिति को लेकर उपाध्यक्ष सहित सभी जनपद सदस्यों ने शिकायत की पुलिंदा लेकर जिला कलेक्टर से मलाकात किये।विदित हो कि जनपद पंचायत छुरा के जनपद चुनाव 2020 के बाद आज तक प्रति तीन माह में होने वाली समान्य सभा की बैठक में लगातार विभागीय अधिकारी,व प्रतिनिधि कर्मचारियों की अनुपस्थिति को लेकर तथा 2020-21-22-23 के जीपीडीपी योजनान्तर्गत अनुमोदित कार्यो का सफल क्रियान्वयन न होना ,राशि का आहरण नही भी न होना, समय पर इंजीनियर के द्वारा कार्यो का मुल्यांकन न करने जैसे दर्जनों शिकायतों तथा शासन के जनहितकारी योजनाओं पर सुस्त रवैया को लेकर जनपद छुरा के जनपद सदस्यो ने शिकायत की।जिलाधीश प्रभात मलिक ने तत्काल गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए सीईओ एम एल वर्मा छुरा को फोन पर सामान्य सभा बैठक की उपस्थिति, कार्यवाही पंजी, 14-15 वीं वित्त की राशि .की जानकारी व जनपद निधि के राशि,तथा कार्य योजना जैसे अनेक जरुरी दस्तावेज लेकर मिलने निर्देश किया है। इस मौके पर जनपद पंचायत छुरा के उपाध्यक्ष गौरव मिश्रा, सभापति प्रहलाद यदु, संत राम नेताम, थानेश्वर कंवर, रजनी सतीश चौरे, सुश्री बुंदा साहू, जनपद नीलकंठ सिंह ठाकुर, दीपक चन्द्राकार, रिखी राम यादव, शांति बाई नागेश, हेमलता ध्रुव, सुश्री खिलेश्वरी ध्रुव, सुखबती ताण्डे प्रमुख रुप से उपस्थित थे।

guruglobal

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Have Missed!

0 Minutes
छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग-न्यूज राजनीति लोकसभा चुनाव विधानसभा चुनाव शिक्षा
बीजेपी छत्तीसगढ़ में 36 सिंटे भी जीत गई तो भी सरकार बना लेगी?
0 Minutes
History International खेल दुनिया ब्रेकिंग-न्यूज शिक्षा
सूर्य कुमार शर्मा ,शुक्ला चतुर्वेदी,होता तो अभी मीडिया का क्रिकेट का सुपरस्टार होता।
0 Minutes
छत्तीसगढ़ ब्रेकिंग-न्यूज राजनीति लोकसभा चुनाव विधानसभा चुनाव शिक्षा
छत्तीसगढ़ में भाजपा और कांग्रेस के बीच 36-36 का मुकाबला रहा ! परिणाम 3 दिसंबर कौन होगा सत्ता का सिकंदर?
0 Minutes
गरियाबंद छत्तीसगढ़ छुरा ज़िला गरियाबंद ब्रेकिंग-न्यूज राजनीति
चावल कोटा आवंटित करने में और खपत करने में कहां पर होता है झोल_झाल!