कांग्रेस भाजपा दोनों ने किसानों का छलने का काम किया है चमन यादव #APP

कांग्रेस सरकार की बजट आम लोगो और सविदा कर्मचारी को छलावा ।आम आदमी पार्टी के ब्लॉक अध्यक्ष चमन यादव ने कहा , यह बजट आम लोगो को कोई फायदा नहीं ,छत्तीसगढ़ के आम जनता, किसान और सविदा कर्मचारी के साथ धोखा किया है, काहा था की छत्तीसगढ़ मे काग्रेस की सरकार बनते ही 10 दिनों के अंदर सविदा कर्मचारी को नियमितीकरण किया जाएगा जो किया नहीं , बजट मे पूर्व की बीजेपी सरकार की 2 वर्ष की बाकी के बोनस को देने का वादा को पुरा नहीं किया।चिट फंड कंपनी मे लोगो के पैसा को देने का वादा इस बजट मे कोई उल्लेख नहीं , समाजिक सुरक्षा पेंसन को 500 किया है ये भी अन्याय है, बढ़ती हुई महगाई मे 500 से क्या होगा? मार्केट से 2 दिन का खाने का सामग्री तक नहीं आएगा तो महीना का गुजारा कैसे होगा ।आम लोगो को फायदा केवल आम आदमी पार्टी हि दे सकता है ,आम आदमी पार्टी की सरकार बनते ही छत्तीसगढ़ मे दिल्ली मॉडल को लागु किया जाएगा , दिल्ली माडल छत्तीसगढ़ मे लागु होने पर प्रेत्येक परिवार मे 10 से 15 हजार रूपए की बचत होगी जिससे महगाई से राहत मिलेगी जैसे कि 18 साल से 60 वर्ष तक की सभी महिलाओ को 1000 प्रति माह सम्मान राशि दी जायेगी इससे महिलाओ की आत्मनिर्भरता सुदृढ़ होगी ,और सभी प्रकार का पेंसन को 2500 किया जाएगा , शिक्षा और स्वाथ्य के बारे मे बताने की जरूरत नहीं यह बात पुरा दुनिया जानती है। शिक्षा अउ स्वास्थ्य के गढ़, बनहि हमर छत्तीसगढ़ ।

बजट में जो है सबको मालूम है लेकिन मुख्य कमियां किसानों का बकाया बोनस का कोई जिक्र नहीं सरकारी कार्यालयों में कई पद खाली हैं उसका भार्ती का कोई जिक्र नहीं। रोजगार सहायक सचिव इनके बारे में भी कोई जिक्र नहीं संविदा कर्मी के बारे में भी कोई जिक्र नहीं। बजट को अध्ययन करके देखें तो 70 परसेंट बचत ठेकेदारों के एवं कॉर्पोरेट के हिसाब से बनाया गया है जो उनको ही फायदा पहुंच सकती है। बजट ऐसा लग रहा है जैसे कांग्रेस और भाजपा में कोई अंतर नहीं है दोनों एक दूसरे के पूरक है। जनता के तीसरा विकल्प नहीं होने के कारण दोनों पार्टियां इसका फायदा उठाने के लिए सोच रहे हैं।
जब से छत्तीसगढ़ राज्य बना है यहां भूमाफिया जमीन दलाल सक्रिय हो गए हैं। जिस प्रकार यहां जमीन का बाजार भाव बढ़ा है लेकिन सरकारी सकल रेट नहीं बढ़ाया गया है, यह सीधा-सीधा सरकार को चूना लगाने का काम हो रहा है तो सीधा-सीधा राजस्व नुकसान है जो छत्तीसगढ़ राज्य को कर्जा में ढकेल रही है। किसान कमाने और खाने के अलावा कोई विकास नहीं है। किसानों के जमीन लगातार कारपोरेट के हाथों जा रहे हैं कमजोर किसान अपना जमीन बेचने को मजबूर हो रहे हैं। कई प्राकृतिक खनिज संसाधन बिजली भरपुर औद्योगिक क्षेत्र होने के बावजूद भी छत्तीसगढ़ आखिर कर्जा में क्यों है, यह गहरा चिंतन करने का विषय है।

guruglobal

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *